नजफगढ़ लूट केस के दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

January 2023
M T W T F S S
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  
January 30, 2023

हर ख़बर पर हमारी पकड़

नजफगढ़ लूट केस के दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/द्वारका/नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- द्वारका एएटीएस व स्पेशल स्टाफ टीम ने नजफगढ़ लूट के मामले के दोनों आरोपियों को पकड़ कर केस को मात्र 24 घंटे में हल कर दिया है। एएटीएस व स्पेशल स्टाफ ने आरोपियों की एक के बाद एक गिरफ्तारी करते हुए इस लूट में 5.34 हजार रूपये भी आरोपियों से बरामद कर लिये हैं। आरोपियों से एक देसी कट्टा व एक पिस्टल और जिंदा कारतूस बरामद किये है। आरोपियों में नवीन नामक एक आरोपी ऐसा भी है जिसने 2018 में भी इसी कर्मी से पैसे लूटे थे।
इस संबंध में जानकारी देते हुए डीसीपी द्वारका एंटो अलफोंस ने बताया कि सोमवार को नजफगढ़ में स्टेट बैंक के सामने मोटर साईकिल पर आये आरोपी मनजीत डागर व नवीन ने नांगलोई-नजफगढ़ रोड़ पर स्थित इंडियन आॅयल पैट्रोल पंप के कर्मी प्रमोद चैहान से उस वक्त 6.95 लाख रूपये छीन लिये थे जब वह स्टेट बैंक में पैसे जमा कराने के लिए आया था। आरोपियों ने इस लूट में दहशत फैलाने के लिए दो राउंड फायर भी किये थे। इसके बाद आरोपी मोटरसाईकिल पर मौके से फरार हो गये थे। नजफगढ़ पुलिस ने इस संबंध मंे श्री बाला जी पैट्रोल पंप के सेल्समैन प्रमोद चैहान की शिकायत पर मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी। लेकिन हमने मामले को एएटीएस व स्पेशल स्टाफ को सौंप दिया गया जिसमें एएटीएस टीम के इंस्पैक्टर रामकिशन व स्पेशल स्टाफ के निरिक्षक नवीन कुमार ने एक टीम का गठन किया जिसमें एसआई कमलेश कुमार, एएसआई रणधीर, हवलदार जितेन्द्र, जगत, सिपाही सोनू, मनीष एएटीएस से व एसआई राजीव त्यागी, एसआई बिजेन्द्र, एसआई महेन्द्र, एएसआई हंस, उमेश, सिपाही जितेन्द्र, प्रवीण, रवि, संदीप ?, जगदीश और सिपाही कुलभूषण स्पेशल स्टाफ से की टीम ने संयुक्त रूप से एसीपी जोगेन्द्र जून के निर्देशन में कार्यवाही करते हुए आरोपियों को 24 में घंटे में पकड़ कर नजफगढ़ में दिनदहाड़े हुई लूट को हल कर दिया। दोनो आरोपियों के पास से एक देसी कट्टा व एक आधुनिक पिस्टल
और जिंदा कारतूस बरामद हुए है। उन्होने बताया कि द्वारका पुलिस अपराध व अपराधियों के प्रति काफी सख्त रूख अपनाये हुए है। कोविड-19 के तहत लाॅक डाउन में पुलिस ने कई अपराधियों को सलाखों के पीछे पंहुचाया है। वही इस मामले पर कार्यवाही करते हुए एएटीएस व स्पेशल स्टाफ ने एरिया के सभी सीसीटीवी फुटेज व पैट्रोल पंप की फुटेज की जांच की। साथ ही क्षेत्र के सभी खबरियों को भी सूचित किया गया और उनसे जानकारी हासिल की। मंगलवार को एक सूचना के आधार पर अपराधी नवील ठुकराल के साई बाबा मंदिर नजफगढ़ के पास आने की सूचना मिली जिस पर पुलिस ने उसे जाल बिछाकर दबौच लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से 1.19 लाख रूपये जो लूटी गई रकम का हिस्सा थे को भी बरामद किया। आरोपी ने एक नया मोबाईल फोन भी खरीदा था तथा उसके पास से एक देसी कट्टा व कुछ जिंदा कारतूस भी बरामद हुए। नवीन से पूछताछ में उसने मनजीत डागर की जानकारी दी। कुछ घंटों बाद सिपाही मनीष को एक सूचना मिली की मुख्य साजिशकर्ता मनजीत नजफगढ़ अनाज मंडी के पास है। पुलिस ने तुरंत कार्यवाही करते हुए मनजीत को एक पिस्टल के साथ पकड़ लिया। और उसके पास से 4.15 लाख रूपये भी बरामद कर लिये। पूछताछ के दौरान पता चला की नवीन ठुकराल पुत्र अशोक कुमार निवासी जहांगीर पुरी दिल्ली स्थाई निवासी पानीपत हरियाणा का रहने वाला है। वह कैब चालक के रूप में काम करता था। लेकिन हमेशा उसके पास अपने शौक पूरे करने के लिए पैसे की कमी रहती थी जिसके लिए उसने छोटे-मोटे अपराध आरंभ कर दिये। दूसरा अपराधी मनजीत पुत्र औमप्रकाश निवासी बीएचडी नगर कालोनी, झाड़ौदा कलां दिल्ली का रहने वाला है और विकास दलाल गैंग का सदस्य है। लेकिन विकास दलाल के एक एंनकाउंटर में मारे जाने के बाद दोनो अपराधी कुछ समय तक छिपे रहे लेकिन फिर इन्होने अपराध करने शुरू कर दिये। मनजीत ने नवीन को विकास दलाल से मिलवाया था और विकास ने ही दोनो को हथियार सप्लाई कर अपने साथ मिलाया था। वारदात से पहले मनजीत ने नवीन के साथ कई बार पंप की रेकी की और स्थिति का जायजा लियां उसने बताया कि सोमवार को ही सबसे ज्यादा कैश बैंक के लिए जाता है। और 2018 में भी वह इसी कर्मी को एक बार लूट चुका है। उन्होने बताया कि मनजीत बिना नंबर की एक मोटरसाईकिल लाया था जिससे उन्होने वारदात को अंजाम दिया और फिर दिचाउं रोड़ पर खेतों में भाग गये जहां नवीन ने पहले से ही एक स्कूटी छिपा रखी थी। वहां उन्होने मोटरसाईकिल व दूसरे सबूतों को आग लगा कर नष्ट कर दिया और स्कूटी पर फरार हो गये। पुलिस ने बताया कि नवीन को इस लूट से 1.40 लाख रूपये मिले जिसमें से उसने एक मोबाईल 10.500 का खरीदा और पकड़ा गया। वहीं शेष रकम मनजीत के पास रही। पुलिस ने आरोपियों को पकड़ कर मामला दर्ज कर लिया है। लेकिन पुलिस क्षेत्र में हुई और भी वारदातों में इनकी संलिप्तता जांचने के लिए कड़ाई से पूछताछ कर रही है। डीसीपी अंटो अलफोंस ने संयुक्त टीम की इस सफलता पर उन्हे बधाई दी है।

About Post Author

Subscribe to get news in your inbox