किसानों कूच को लेकर दिल्ली के चारो तरफ किसानों का आंदोलन जारी

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

June 2022
M T W T F S S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
June 27, 2022

हर ख़बर पर हमारी पकड़

किसानों कूच को लेकर दिल्ली के चारो तरफ किसानों का आंदोलन जारी

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/द्वारका/नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा, यूपी व राजस्थान के किसान 26 से 28 नवंबर तक के लिए दिल्ली कूच पर निकले हैं। गुरुवार को इनके दिल्ली प्रवेश को रोकने के लिए दिल्ली-हरियाणा सीमा पर पुलिस व सुरक्षा बलों की तैनाती व बैरिकेड आदि लगाकर सख्त इंतजाम किए गए हैं। आज सुबह पंजाब के किसान पटियाला अंबाला हाईवे पर किए गए बैरिकेड को तोड़ते हुए और वाटर कैनन व आंसू गैस के गोले झेलते हुए आगे बढ़े। जब ये किसान हरियाणा के सादोपुर पहुंचे तो इन्हें एक बार फिर वाटर कैनन की बौछारें झेलनी पड़ीं। इस वक्त दिल्ली की सभी सीमाओं पर लंबे जाम लगे हुए हैं और दिल्ली में प्रवेश के लिए आम आदमी को भी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। दूसरी तरफ गुरुग्राम में योगेंद्र यादव ने किसान मोर्चा को दिल्ली कूच के लिए बुलाया था, लेकिन वहां पहुंचे सभी लोगों को हिरासत में ले लिया गया। हरियाणा में धारा 144 लागू कर दी गई है। वरिष्ठ अधिकारी हालात पर नजर रखे हुए हैं। ड्रोन से भी नजर रखी जा रही है। दिल्ली कूच में एक लाख किसानों के जुटने का दावा किया जा रहा है। किसानों ने चेतावनी दी है कि यदि उन्हें रोका गया तो वे दिल्ली जाने वाले सारे रास्ते जाम कर देंगे। इधर किसानों के दिल्ली कूच को देखते हुए डीएमआरसी ने एनसीआर से दिल्ली जाने वाली सभी मेट्रो सेवाएं अगले आदेश तक स्थगित कर दी हैं। डीएमआरसी ने सूचना जारी की है कि किसानों के आंदोलन को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से कल भी एनसीआर से दिल्ली आने वाली मेट्रो सेवाएं स्थगित रहेंगी। हालांकि दिल्ली से एनसीआर के स्टेशनों को जाने वाली मेट्रो सेवाएं सुचारु रूप से चलेंगी।

बहादुरगढ़ से दिल्ली आने वाला रास्ता किया बंद
किसानों के प्रदर्शन के चलते बहादुरगढ़ से दिल्ली आने वाले टीकरी बार्डर, झाड़ौदा बार्डर व ढांसा बार्डर के सड़क मार्ग व दूसरे रास्ते बंद कर दिये गये है।

सिंघु बॉर्डर पर भारी सुरक्षा बल तैनात, ड्रोन से रखी जा रही निगरानी
दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं। हर वाहन की चेकिंग अब भी जारी है। ड्रोन्स से भी निगरानी रखी जा रही है। सिंघु बॉर्डर पर तैनात दिल्ली के डीसीपी ने बताया कि कोई भी किसानों का समूह इधर की ओर नहीं आ रहा है। हम वाहनों की जांच कर रहे हैं।

सुखबीर सिंह बादल ने कैप्टन अमरिंदर सिंह पर लगाया आरोप
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने किसानों के आंदोलन पर कहा है कि किसान अपनी लड़ाई किसी राजनीतिक झंडे के अधीन नहीं लड़ना चाहते। सभी पार्टियों से जुड़े किसान कृषि बिल के मुद्दे पर एक साथ हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मामले में बहुत ही ढुलमुल रवैया अपनाया है क्योंकि उन्होंने बिल्कुल भी प्रदर्शन नहीं किया। सुखबीर सिंह बादल ने कहा मुख्यमंत्री को केंद्र पर दबाव डालना चाहिए था। दिल्ली जाकर बैठकें करनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि मैं हरियाणा के किसानों से भी अपील करता हूं कि वो पंजाब के किसानों के साथ आएं और उनका समर्थन करें।

करनाल में किसानों पर वाटर कैनन से की गई पानी की बौछार
करनाल में किसानों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने उन पर वाटर कैनन से पानी की बौछार की। यहां पर भी पूरे हरियाणा से भारी मात्रा में किसान सुबह से इकट्ठा हुए हैं।

दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर लगा लंबा जाम
दिल्ली गुरुग्राम बॉर्डर पर वाहनों का लंबा जाम लग गया है क्योंकि किसानों के आंदोलन के चलते वाहनों की सख्ती से जांच की जा रही है।

हरियाणा सरकार द्वारा जगह-जगह बैरिकेडिंग कर किसानों को रोकने के प्रयास की निंदा करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कार्यालय से एक बयान जारी किया गया है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों को जबरन की निंदा की है। उन्होंने पूछा है कि खट्टर सरकार क्यों बल का प्रयोग कर किसानों को रोक रही है, यह असंवैधानिक और अलोतांत्रिक है।
इस पर सीएम मनोहर लाल खट्टर ने जवाब दिया है कि एमएसपी में कोई परेशानी हुई तो मैं पहले ही कह चुका हूं कि राजनीति से सन्यास ले लूंगा। उन्होंने कैप्टन अमरिंदर से कहा कि मैं आपसे तीन दिन से मिलने की कोशिश कर रहा हूं लेकिन आपसे संपर्क ही नहीं हो पा रहा। किसानों को मत उकसाइए।

केंद्रीय कृषि मंत्री तोमर की अपील- किसान भाई बंद करें आंदोलन, बात कर सुलझाएं समस्या
किसानों के आंदोलन पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा है कि, नए कृषि कानून समय की मांग हैं। आने वाले समय में यह क्रांतिकारी परिवर्तन लाने वाले हैं। हमने पंजाब में सचिव स्तर की वार्ता की है कि वहां हमारे किसान भाइयों के बीच गलत बातें फैलानी बंद हों। हम तीन दिसंबर को बात करेंगे। कृषि मंत्री ने आगे कहा कि मैं अपने किसान भाइयों से कहता हूं कि वह आंदोलन न करें। हम उनके मुद्दों पर बात करने को तैयार हैं और समस्याओं को सुलझाने के पक्ष में हैं। मुझे उम्मीद है कि हमारी बात का सकारात्मक परिणाम निकलेगा।

नोएडाः चेकिंग के चलते लिंक रोड पर लगा लंबा जाम
नोएडा में चिल्ला बॉर्डर सख्त चेकिंग के चलते लिंक रोड पर लंबा जाम लग गया है।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर किया किसानों का समर्थन
हरियाणा सरकार द्वारा रोके जा रहे किसानों के समर्थन में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी सामने आए हैं। उन्होंने ट्वीट कर किसानों को एक कविता के माध्यम से अपना समर्थन दिया है। राहुल गांधी ने लिखा, श्नहीं हुआ है अभी सवेरा, पूरब की लाली पहचान चिड़ियों के जगने से पहले, खाट छोड़ उठ गया किसान काले कानूनों के बादल गरज रहे गड़-गड़, अन्याय की बिजली चमकती चम-चम मूसलाधार बरसता पानी, जरा ना रुकता लेता दम! मोदी सरकार की क्रूरता के खिलाफ देश का किसान डटकर खड़ा है।

गाजियाबादः भाकियू अंबावत से जुड़े किसानों ने प्रशासन को सौंपा ज्ञापन
किसान बिल समेत अन्य मांगों को लेकर दिल्ली की तरफ जा रहे भारतीय किसान यूनियन अम्बावत से जुड़े किसानों को पुलिस प्रशासन ने गाजियाबाद के मोहन नगर चैराहे पर रोक लिया। संगठन के पदाधिकारियों से एएसपी केशव कुमार बातचीत कर समाधान निकालने में जुटे रहे। करीब डेढ़ घंटे की वार्ता के बाद किसानों ने अपनी मांगों को लेकर एक ज्ञापन एसीएम सेकंड विनय सिंह और एएसपी केशव कुमार को सौेंप दिया।

किसान विरोध : दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में निगरानी बढ़ी
दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा दिल्ली चलो विरोध मार्च के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी निगरानी सख्त कर दी। पुलिस ने कहा कि सिंघु सीमा पर दिल्ली पुलिस ने किसानों द्वारा संचालित ट्रैक्टरों की आवाजाही रोकने के लिए रेत से भरे ट्रकों को तैनात किया है। यह पहला मौका है जब शहर की पुलिस ने सीमा पर रेत से भरे ट्रकों को तैनात किया है। पुलिस ने बताया कि सीमा को सील नहीं किया गया है लेकिन वे राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने वाले सभी वाहनों की जांच कर रहे हैं। इससे पहले, दिल्ली पुलिस ने 26 और 27 नवंबर को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में विरोध प्रदर्शन करने के विभिन्न किसान संगठनों के अनुरोधों को अस्वीकार कर दिया था।

जंतर-मंतर पर बैरिकेडिंग और वाटर कैनन तैनात
जंतर-मंतर पर एहतियात के तौर पर बैरिकेडिंग की गई है। यहां पर वाटर कैनन भी तैनात हैं लेकिन कोई किसान यहां नहीं है।

यूपी-दिल्ली बॉर्डर पर पुलिस अलर्ट
गाजियाबाद बॉर्डर पर एसएसपी कलानिधि नैथानी पहुंचकर स्थिति का जायजा ले रहे हैं। वहीं कोंडली यूपी बॉर्डर पर कोई बैरिकेडिंग नहीं है, हालांकि पुलिस अलर्ट पर है। बैरिकेडिंग न होने से यहां का यातायात भी सामान्य रूप से चल रहा है।

योगेंद्र यादव हिरासत में
गुरुग्राम के बिलासपुर में योगेंद्र यादव ने आज किसान मोर्चा से जुड़े किसानों का दिल्ली कूच के लिए आह्वान किया था। गुरुग्राम पचगांव व कापड़ीवास के बीच राठीवास गांव मोड़ के पास से योगेंद्र यादव सहित किसानों हिरासत में लिया गया है। योगेंद्र यादव के आह्वान पर पर बड़ी संख्या में राजस्थान और हरियाणा से किसान पहुंचे थे।

किसानों पर दागे आंसू गैस के गोले
वीडियो में सुरक्षा बल शंभू बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों पर आंसू गैस के गोले दागते दिख रहे हैं।

रोहतक-झज्जर सीमा पर कड़ी सुरक्षा
किसानों के दिल्ली कूच को देखते हुए रोहतक झज्जर सीमा पर भारी सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं।

किसानों की आवाज सुनने की बजाए सरकार उन पर ठंड में पानी की बौछार मार रहीः प्रियंका गांधी
किसानों को रोकने और ठंड के मौसम में उनपर वॉटर कैनन से पानी की बौछार करने पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, श्किसानों से समर्थन मूल्य छीनने वाले कानून के विरोध में किसान की आवाज सुनने की बजाए भाजपा सरकार उन पर भारी ठंड में पानी की बौछार मारती है। किसानों से सबकुछ छीना जा रहा है और पूंजीपतियों को थाल में सजा कर बैंक, कर्जमाफी, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन बांटे जा रहे हैं।श्

Subscribe to get news in your inbox