जाम मुक्त होंगे प्रदेश के चार शहर, बनाये जायेंगे रिंगरोड़-उपमुख्यमंत्री दुष्यत चैटाला

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

April 2024
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930  
April 22, 2024

हर ख़बर पर हमारी पकड़

जाम मुक्त होंगे प्रदेश के चार शहर, बनाये जायेंगे रिंगरोड़-उपमुख्यमंत्री दुष्यत चैटाला

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/चंडीगढ़/नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चैटाला ने केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के समक्ष राज्य के हिसार, करनाल, भिवानी, कुरूक्षेत्र शहर में रिंग रोड बनाने की मांग कर नगरों में लगने वाले जाम से निजात दिलवाने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है। शहरों में रिंगरोड बनने से शहरवासियों की जाम की परेशानी पर लगाम लगेगी और यातायात सुचारू होगा।
इन शहरों में हिसार की बात करें तो यह जिला न केवल औद्योगिक दृष्टि से हरियाणा का बड़ा शहर है बल्कि बेहतर शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं में भी एक प्रमुख शहर माना जाता है। स्टील सिटी से मशहूर हिसार में कई बड़ी और छोटी औद्योगिक इकाईयां है जहां से राजस्थान, पंजाब समेत कई राज्यों में स्टील, पीवीसी से बना माल आपूर्ति होता है। हिसार में तीन विश्वविद्यालय समेत अन्य शैक्षणिक संस्थाएं और बेहतर सुविधा वाले अस्पताल होने के चलते ईलाज तथा शिक्षा पाने के लिए राजस्थान व पंजाब से भी बड़ी संख्या में लोग पहुंचते है। ऐसे में शहर में ज्यादातर भारी जाम की स्थिति बनी रहती है। डिप्टी सीएम दुष्यंत चैटाला का मानना है कि हिसार में रिंगरोड बनाने की परियोजना सिरे चढ़ने से शहर की सड़कों पर वाहनों की लगनी वाली लंबी-लंबी लाइनों की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा क्योंकि शहर में जाम लगने के हालात इस कदर से बिगड़े हुए है कि मात्र तीन किलोमीटर की दूरी (बस अड्डे से लेकर डाबड़ा चैक तक) तय करने में करीबन एक घंटा लग जाता है। इसका प्रमुख कारण शहर की सड़को पर वाहनों की क्षमता से ज्यादा संख्या में प्रवेश करना है। यदि हिसार में रिंग रोड बनता है तो राजस्थान, दिल्ली, पंजाब की ओर आवागमन करने वाले वाहनों से शहर को मुक्ति मिलेगी और शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार होगा।
वहीं धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में भी हर समय जाम की स्थिति बनी रहती है क्योंकि कैथल की तरफ से आने वाले हरिद्वार के श्रद्धालु तथा यमुनानगर आने-जाने वाले यात्रियों की आवाजाही हर समय बनी रहती है। शहर से गुजरने वाली इस एकमात्र सड़क पर यातायात ज्यादा होने तथा बड़े वाहनों के गुजरने की वजह से आए दिन सड़क हादसे भी होते रहते है। ऐसे में यहां रिंग रोड का निर्माण होता है तो शहरवासियों की पुरानी मांग पूरी होने के साथ-साथ उन्हें रोजाना ट्रैफिक संबंधित सामना करने वाली इन समस्याओं से भी मुक्ति मिलेगी।
इसी तरह करनाल में रिंग रोड बनने से दिल्ली-अंबाला नेशनल हाईवे पर गुजरने वाला ट्रैफिक शहर में नहीं आएगा ब्लकि रिंग रोड के जरिए अपनी मंजिल की तरफ बढ़ेगा। इससे शहरवासियों को जाम से राहत मिलेगी तो वहीं करनाल से दिल्ली-चंडीगढ़ के लिए एंबुलेस के जरिये गुजरने वाले मेडिकल संबंधित इमरजेंसी केस जाम न फंसकर सीधा रिंग रोड के जरिये निकलकर करनाल क्रॉस करेगा। इसके अलावा किसानों को हर बार मंडी तक पहुंचने के लिए भारी ट्रैफिक का सामना करते हुए परेशानी झेलनी पड़ती है। रिंग रोड बनने से किसानों, व्यापारियों समेत सभी शहरवासियों की यह बड़ी समस्या हल होगी।
भिवानी को जाम से निजात दिलाने के लिए शहरवासियों की पुरानी मांग को पूरा करने के लिए रिंगरोड का निर्माण करवाना अति आवश्यक है क्योंकि भिवानी शहर में चंडीगढ़-जींद, हिसार, महेंद्रगढ़, जयपुर की तरफ से यातायात की आवाजाही के कारण शहर में जाम की स्थिति बनी रहती है। इसके अलावा खाटू श्याम, सालासर जाने वाले श्रद्धालुओं को भी भिवानी से गुजरने के लिए जाम की समस्या का सामना करना पड़ता है।
दरअसल, मंगलवार को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चैटाला ने राज्य में 11 सड़क परियोजनाओं के उद्घाटन एवं शिलान्यास कार्यक्रम के अवसर पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से हिसार, भिवानी, करनाल, कुरुक्षेत्र शहरों में रिंगरोड बनाने की मांग की थी। ऐसे में यह मांग जल्द पूरी होती है तो चारों शहरों को जहां जाम की समस्या से निजात तो मिलेगी ही वहीं शहर का फैलाव होने से आर्थिक एवं औद्योगिक विकास होगा।

About Post Author

Subscribe to get news in your inbox