कोरोना प्रोटोकाल का उल्लंघन करने पर महरौली में क्लब सील, 600 लोग थे मौजूद

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

August 2022
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
August 19, 2022

हर ख़बर पर हमारी पकड़

कोरोना प्रोटोकाल का उल्लंघन करने पर महरौली में क्लब सील, 600 लोग थे मौजूद

-महरौली में औचक निरिक्षण के बाद प्रशासन ने डीडीएमए के दिशा’निर्देशों के तहत की कार्यवाही

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/महरौली/नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/- देश की राजधानी में कोरोना प्रोटोकाल के उल्लंधन का मामला सामने आया है। जिसमें
महरौली में औचक निरीक्षण के दौरान एक क्लब में क्षमता से अधिक भीड़ पाई गई। जिसपर तुरंत महरौली के तहसीलदार और उनकी टीम ने भीड़ को तितर-बितर किया और डीडीएमए के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने पर परिसर को मौके पर ही सील कर दिया गया।
                  जानकारी के अनुसार, जिला दक्षिण की एक उड़न दस्ते की टीम महरौली के प्रसिद्ध रेस्तरां में औचक निरीक्षण के लिए गई थी। क्लब में क्षमता से अधिक करीब 600 लोगों की भीड़ मिली। क्लब में कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया जा रहा था। इस पर तुरंत महरौली के तहसीलदार और उनकी टीम ने भीड़ को तितर-बितर किया। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की रोकथाम के लिए डीडीएमए के दिशा-निर्देशों के अनुसार कार्रवाई करते हुए क्लब को सील कर दिया गया है। साथ ही प्रशासन ने अपील करते हुए कहा है कि सभी रेस्तरां को निर्देशित किया जाता है कि वे दिशा-निर्देशों का पालन करें और सुनिश्चित करें कि वे कोरोना की मौजूदा स्थिति में सुपर स्प्रेडर न बनें।
             दक्षिण दिल्ली के एडीसीपी एम. हर्षवर्धन ने बताया कि सूचना मिली कि महरौली के एक रेस्टोरेंट में काफी लोग इकट्ठा हुए हैं। डीडीएमए के दिशा-निर्देशों के तहत इतनी संख्या में लोगों के इकट्ठे होने पर प्रतिबंध है और उल्लंघन भी। हमने आईपीसी की धारा 188 और 269 के तहत मामला दर्ज़ किया है। रेस्टोरेंट को सील कर दिया है।
              आपको बता दें कि कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण के बीच इस साल क्रिसमस और नए साल पर होने वाले आयोजनों पर पाबंदी लगा दी है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने बुधवार को भीड़भाड़ वाले आयोजनों पर पाबंदी लगाने का आदेश जारी कर दिया है।
जिला प्रशासन और पुलिस को सख्त हिदायत दी गई है कि वह ऐसे आयजनों पर रोक लगाने के लिए उपयुक्त कदम उठाएं। वहीं, बुधवार से कोरोना पॉजिटिव मामलों की जीनोम सीक्वेंसिंग शुरू हो गई है।
                डीडीएमए ने बीते सोमवार को बैठक कर कोरोना के मौजूदा हालातों को लेकर समीक्षा की थी। साथ ही ओमिक्रॉन को लेकर भी चर्चा हुई थी। बैठक में भीड़भाड़ वाले आयोजनों पर सख्ती को लेकर भी फैसला हुआ था। इसको देखते हुए डीडीएमए ने जिलाधिकारियों को संक्रमण फैलाने वाले क्षेत्रों की पहचान करने का आदेश दिया है। साथ ही पुलिस उपायुक्तों को भी यह सुनिश्चित कर ने का निर्देश दिया गया है कि सामाजिक-दूरियों के मानदंडों का पालन करने के साथ मास्क पहनें।
               डीडीएमए के आदेश के मुताबिक, सभी जिलाधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले पूरे क्षेत्र का सर्वेक्षण करेंगे। इस दौरान उन्हें कॉलोनियों, बाजारों और भीड़-भाड़ वाले स्थानों की पहचान करनी होगी, जिनमें कोरोना और इसके नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के फैलने की संभावना है। आदेश में कहा गया है कि सभी जिलाधिकारी और डीसीपी सार्वजनिक स्थानों पर अधिक निगरानी रखने के लिए पर्याप्त संख्या में बल तैनात करेंगे, जिससे कोरोना मामलों में बढ़ोतरी होने से रोका जा सके।

Subscribe to get news in your inbox