कहीं गैंगस्टर मंजीत महाल को मारने के लिए तो नही किया गया था रोहिणी कोर्ट में विस्फोट?

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

August 2022
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
August 19, 2022

हर ख़बर पर हमारी पकड़

कहीं गैंगस्टर मंजीत महाल को मारने के लिए तो नही किया गया था रोहिणी कोर्ट में विस्फोट?

-कोर्ट में थी महाल की पेशी, साजिश का एंगल आया सामने, मंजीत की पेशी से पहले ही हो गया विस्फोट

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/रोहिणी कोर्ट/शिव कुमार यादव/- रोहिणी कोर्ट में हुए बम धमाके ने एक बार फिर रोहिणी कोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी है। किसी को भी यह आभास नही था कि एक बार फिर साजिशकर्ता कोर्ट रूम तक पंहुच जायेगा। हालांकि इस विस्फोट में किसी के हताहत होने की सूचना नही है बस सिर्फ 4 लोगों के घायल होने की ही खबर है। अब पुलिस इस मामले की जांच कर रही है लेकिन ऐसा भी हो सकता है कि रोहिणी कोर्ट में गैंगस्टर मंजीत महाल को मारने के लिए ही यह विस्फोट किया गया हो। क्योंकि गुरुवार को ही मंजीत महाल की रोहिणी कोर्ट में एक मामले में पेशी थी। अब पुलिस भी इस बात से इंकार नही कर रही है। क्यांकि गत दिनों दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गैंगस्टर कपिल सांगवान गिरोह के एक शार्प शूटर को गिरफ्तार किया था। जिसने मंजीत महाल की हत्या की साजिश के बारे में बताया था। लेकिन कोर्ट परिसर में हमला किया जाएगा, यह पुलिस को नहीं बताया गया था। ऐसे में अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल इस साजिश को देखते हुए भी मामले की जांच कर रही है।
                पुलिस सूत्रों की मानें तो गुरुवार को एक मामले में कुख्यात गैंगस्टर मंजीत महाल की कोर्ट में पेशी थी। मंजीत तिहाड जेल में बंद हैं। उसे पुलिस पेशी के लिए कोर्ट लेकर पहुंची थी। लेकिन उसकी पेशी नहीं हो पाई थी। इससे पहले ही कोर्ट में विस्फोट हो गया। जिसके बाद कोर्ट में होने वाली सभी पेशी रद्द कर दी गई और पुलिस मंजीत को लेकर तिहाड़ वापस आ गई।  
                गैंगस्टर कपिल सांगवान के करीब और फरार चल रहे शार्प शूटर दीपक धनखड़ को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था। दीपक ने पुलिस को पूछताछ में बताया था कि कपिल ने मंजीत की हत्या कराने की साजिश रची है। दीपक ने बताया था कि मंजीत की हत्या कोर्ट में पेशी के दौरान की जाएगी। हथियार का इंतजाम कर लिया गया है। पुलिस ने दीपक के पास से भी हथियार बरामद किए थे। दीपक ने पुलिस को यह बताया था कि वह खुद भी मंजीत की हत्या करने वाला है। ऐसे में पेशी के दिन विस्फोट होना दिल्ली में गैंगवार की ओर इशारा कर रहा है।
                दिल्ली में पेशी के दौरान हत्याओं का पुराना इतिहास रहा है। करीब ढाई माह पहले गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या उसके विरोधी गैंगस्टर सुनील उर्फ टिलू ने रोहिणी कोर्ट में पेशी के दौरान करवा दी थी। इससे पहले नीरज बवाना ने अपने विरोधियों की कोर्ट में पेशी के दौरान कई हत्याएं की हैं। कड़कड़डूमा कोर्ट परिसर में ही एक नाबालिग ने छेनू गैंग के बदमाशों पर फायरिंग की दी थी।  

Subscribe to get news in your inbox