नौतपा में रखे सेहत का विशेष ख्याल- डा. एन आर सिंह

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

May 2024
M T W T F S S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  
May 27, 2024

हर ख़बर पर हमारी पकड़

नौतपा में रखे सेहत का विशेष ख्याल- डा. एन आर सिंह

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/द्वारका/नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- नौतपा साल के वह 9 दिन होते है जब सूर्य पृथ्वी के सबसे नजदीक होता है जिसकारण से इन 9 दिनों में भीषण गर्मी पड़ती है जिसे देखते हुए इस मौसम में सेहत का भी विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। इस बार 25 मई से 2 जून तक भारत में नौतपा रहेगा।
                            हिंदू मान्यता के अनुसार सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करते ही नौतपा प्रारंभ हो जाता है। नौतपा के दौरान सूर्य की लंबवत किरणें धरती पर पड़ती हैं लेकिन इस बार शुक्र तारा अस्त होने से देश के कई हिस्सों में बारिश आंधी आ सकती है। सूर्य रोहिणी नक्षत्र में 15 दिनों के लिए आता है तो उन दिनों के पहले 9 दिन सर्वाधिक गर्मी वाले होते हैं। इन्ही शुरुआती 9 दिनों को नौतपा के नाम से जाना जाता है। यदि इन 9 दिनों में बारिश ना हो और ना ही ठंडी हवा चले तो माना जाता है कि इस बार बारिश अच्छी होगी यानी नौतपा में जितनी गर्मी उतनी अच्छी बारिश। इस बार 21 मई को शुक्र तारा अस्त हो रहा है। शुक्र ग्रह रस प्रदान करने वाला है इसलिए इस बार नौतपा में बारिश आंधी और तूफान आदि आएंगे। यह प्रभाव नौतपा के आखिरी 2 दिनों में अधिक देखने को मिलेगा। मौसम विभाग की मानें तो दिल्ली की सर्दी और गर्मी दोनों ही काफी कड़क होती है। यहां बता दें कि पिछले साल दिसंबर में सर्दी के मौसम में 5 से 6 डिग्री तक पारा लुढ़क गया था और अब 25 और 26 मई को अधिकतम पारा 46 डिग्री रहने की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग ने बताया कि सोमवार को दिल्ली में 20 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गर्म हवाएं चलेंगी। नौतपा के मध्य में तापमान 46 डिग्री से ऊपर रहने की संभावना जताई जा रही है।
                        इस संबंध में चैधरी ब्रह्मप्रकाश आयुर्वेदिक चरक संस्थान के अतिरिक्त निदेशक डा. एन आर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि वैसे तो गर्मी के मौसम में शरीर में पानी की कमी अधिक होती है जिसके लिए हमे थोड़ी-थोड़ी देर में नींबू पानी व दूसरे पेय पदार्थ पीते रहना चाहिए। लेकिन नौतपा के ये 9 दिन कुछ ज्यादा ही गर्म होते है। जिसकारण शरीर तेजी से डिहाइड्रेट होता है जिसकारण डायरिया, पेचिस, उल्टियां होने की संभावना अधिक होती है। अतः इन सबसे बचाव के लिए और शरीर को डिहाइड्रेशन से बचाने के लिए हमें नींबू पानी, लस्सी, छाछ, खीरा, ककड़ी, तरबूज व खरबूजे का भरपूर प्रयोग करना चाहिए। उन्होने बताया कि घर से बाहर निकलते समय सिर को ढककर रखें अन्यथा आपके बाल बहुत तेजी से सफेद होगे और झड़ना आरंभ कर देगे।
                              उन्होने बताया कि  साल में 9 दिन सूर्य पृच्वी के बिल्कुल नजदीक होता है जिसकारण दिन बड़े व रातें छोटी होती है। ये 9 दिन भीषण गर्मी के होते है जिनका शरीर पर भी विपरीत असर पड़ता है। उन्होने कहा कि इन दिनों में पानी खूब पिया और पिलाया जाना चाहिए ताकि पानी की कमी से लोग बिमार न हो। इस तेज गर्मी से बचने के लिए दही, लस्सी, मक्खन व दूध का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए। इसके साथ ही नारियल पानी व आंवले का भी प्रयोग करने के साथ-साथ ठंडक देने वाली अन्य चीजों का भी ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करना चाहिए। बच्चों की तो इस मौसम कें विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। उन्हे हर 15 मिनट के अंतराल में कुछ न कुछ पेय पदार्थ जरूरी पिलाना चाहिए। ताकि उनके शरीर में पानी कमी न होने पाये। हालांकि उन्होने सभी तरह से पेय पदार्थों के सेवन का प्रयोग करनी की सलाह दी है लेकिन साथ ही उन्होने कहा कि इस बार कोरोना वायरस के चलते हमें कोल्ड स्टोर की चीजों के इस्तेमाल से बचना चाहिए। ताकि हम कोरोना से भी सुरक्षित रह सकें।

About Post Author

Subscribe to get news in your inbox