पुलिस ने एक लाख के इनामी गैंगस्टर ज्योति को मकोका में किया गिरफ्तार

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

May 2024
M T W T F S S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  
May 27, 2024

हर ख़बर पर हमारी पकड़

पुलिस ने एक लाख के इनामी गैंगस्टर ज्योति को मकोका में किया गिरफ्तार

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/द्वारका/नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- पुलिस की स्पेशल सेल की काउंटर इंटेलिजेंस यूनिट ने गैगस्टर कपिल उर्फ नंदू के बड़े भाई ज्योति उर्फ बाबा को गुजरात से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के समय वह क्यू-7 ऑडी से फरार होने की फिराक में था। गुजरात में शराब माफिया धेनभाई करिया ने इसे शरण दे रखी थी। धेनभाई 2019 का लोकसभा का चुनाव लड़ा था और फिलहाल सूरत जेल में है। ज्योति दिल्ली-एनसीआर के टॉप-10 गैंगस्टर में से एक था और पेरोल जंप कर फरार हुआ था। हत्या के एक मामले में इसे उम्रकैद हुई थी। दिल्ली पुलिस मकोका के केस में इसकी तलाश कर रही थी और उस पर 1 लाख रुपये का इनाम था।
काउंटर इंटेलीजेंस डीसीपी मनीषी चंद्रा के अनुसार, बाबा-नंदू गिरोह के बदमाशों के कुछ राज्यों के शराब माफिया से साठगांठ का पता चला था। इसी दौरान, इंस्पेक्टर विक्रम दहिया को खबर मिली कि नजफगढ़ के नंदा एन्क्लेव निवासी ज्योतिप्रकाश उर्फ ज्योति उर्फ बाबा उर्फ सन्नी (31) गुजरात के शराब माफिया की शरण में है। उनकी देखरेख में एसआई संदीप डबास, मंजीत, निशांत दहिया, सुमेर सिंह और सचिन की टीम ने गुजरात में दबिश देकर ज्योति को दबोच लिया। वहां से उसे दिल्ली लाया गया। उसके पास से बरामद कार गुजरात के शराब माफिया जूनागढ़ निवासी धेनभाई करिया के नाम रजिस्टर्ड है। ज्योति से .32 यूएसए आर्मी की पिस्टल व 4 कारतूस मिले। हरियाणा की एक कोर्ट ने इसे अगस्त, 2019 में पेरोल दी थी। इसके बाद वह फरार था। उसके खिलाफ दिल्ली व हरियाणा में 12 से ज्यादा मामले दर्ज हैं।
यहां बता दें कि गिरफ्तार गैंगस्टर ज्योति उर्फ बाबा जिसने मात्र 16 साल की उम्र में पहला मर्डर गुड़गांव एरिया में किया उसके बाद 19 साल की उम्र में दूसरा बहादुरगढ़ एरिया में और 20 साल की उम्र में गिरफ्तार हुआ व झज्जर कोर्ट से आजीवन कारावास हुआ था जो 10 साल जेल में रहने के बाद पिछले साल 2019 जून में पैरोल पर जेल से छूटा पर वापिस नही गया और अपने विरोधी गैंग मंजीत महाल – विकास लगरपुरिया गैंग से गैंगवार में शामिल रहा।
ज्योति उर्फ बाबा और नन्दू गिरोह की दुश्मनी नजफगढ़ एरिया के गैंगस्टर मंजीत महाल से चल रही है जो इस गैंगवार में अभी तक करीब दर्जन मर्डर हो चुके है कुछ महीने पहले विकास लगरपुरिया गिरोह से जेल में झगड़ा होने के बाद आपसी तनाव बढ़ गया था।
फरारी के दौरान गैंगस्टर ज्योति बाबा व नन्दू ने नजफगढ़ द्वारका व आस पास के इलाकों में जबरन वसूली व फायरिंग व नन्दू ने अपने साथियों के साथ मिलकर द्वारका के एक प्रॉपर्टी डीलर नरेंद्र नेंटी का मर्डर कर दिया था व गिरोह ने इनके इशारे पे एक टिक टोक स्टार मोहित मोर का भी मर्डर किया था।
ज्योति बाबा व नंदू गिरोह के कुछ सदस्य कुछ महीनों में सेल द्वारा गिरफ्तार किए जा चूके है पर गैंग लीडर बाबा व नन्दू जो पिछले एक साल से फरार चल रहे थे और नजफगढ़ द्वारका इलाके में आतंक का पर्याय बन चुके थे जो गिरोह की लगातार आपराधिक गतिविधियों की वजह से दिल्ली में मकोका केस 2019 में दर्ज किया जो गैंग लीडर ज्योति बाबा व उसका भाई नन्दू अभी तक वांटेड चल रहे थे व बाबा हरियाणा में से भी आजीवन कारावास की सजा से पैरोल जम्प था जो उसकी गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस की तरफ से 1 लाख रुपये का इनाम घोषित था। जो काउंटर इंटेलिजेंस स्पेशल सेल यूनिट ने गैंग लीडर ज्योति बाबा को गुजरात इलाके से गिरफ्तार करके बड़ी कामयाबी हासिल की है !
गैंगस्टर ज्योति बाबा हरियाणा के एक मशहूर शराब माफिया के माध्यम से गुजरात के एक शराब माफिया जोकि सूरत जेल में बंद है के ठिकानों पर फरारी काट रहा था व खुद की एक गलत पहचान सनी गिरधर के नाम से बनाकर जूनागढ़ गुजरात मे रह रहा था व वारदातों को अंजाम देने के लिए नजफगढ़ – झज्जर इलाके में आता जाता था !

नंदू पर है 50 हजार रुपये का इनाम
नंदू वर्ष 2016 में गिरफ्तार हुआ। जून, 2019 में यह पैरोल पर भोंडसी जेल से निकला और फरार हो गया। नंदू व साथियों ने 24 सितंबर, 2019 को द्वारका इलाके में प्रॉपर्टी डीलर की दिनदहाड़े कई गोलियां मारकर हत्या कर दी। तभी से वह फरार है। दिल्ली पुलिस ने इस पर 50 हजार का इनाम रखा हुआ था। इस वारदात के बाद ज्योति व नंदू समेत गिरोह के काफी लोगों के खिलाफ मकोका का मामला दर्ज किया गया था।

About Post Author

Subscribe to get news in your inbox