2021 में हाईटेक होगी दिल्ली पुलिस, सरकार ने बनाई योजना

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

June 2022
M T W T F S S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
June 25, 2022

हर ख़बर पर हमारी पकड़

2021 में हाईटेक होगी दिल्ली पुलिस, सरकार ने बनाई योजना

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/द्वारका/नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- दिल्ली पुलिस के लिए 2021 काफी विशेष रहने वाला है। नये साल में दिल्ली पुलिस को हाईटेक बनाने की योजना सरकार ने तैयार कर ली है जिसके तहत दिल्ली पुलिस तकनीक प्रधान हो जायेगी। दुनिया भर में अपनाई गई तकनीकों को लागू कर दिल्ली को सुरक्षित बनाएगी। सेफ सिटी प्रोजेक्ट के तहत दिल्ली के तकरीबन सभी बाजार व कॉलोनियों को सीसीटीवी की जद में लाए जाने हैं। साइबर अपराधों को रोकना प्राथमिकता होगी। ऑनलाइन शिकायत सिस्टम को मजबूत किया जाएगा। ई-बीट बुक व व्हीकल चेकिंग सिस्टम भी बेहतर तरीके से काम करेगा। सबसे अव्वल यह कि कोरोना काल और मजदूरों के पलायन के दौर में दिल्लीवासियों की मददगार बन श्दिल की पुलिसश् कहलाने वाली दिल्ली पुलिस अपनी इस छवि को और भी मजबूत करेगी। इसके लिए दिल्ली पुलिस के जवानो को प्रशिक्षण दिलाने की योजना है।

चुनौतीः-
नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शाहीन बाग समेत दिल्ली में करीब 14 जगहों पर हुए धरना-प्रदर्शन।
पांच दिनों तक उत्तर-पूर्वी दिल्ली में चले दंगे। इसी दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी भारत यात्रा पर थे।
कोरोना काल में खुद को संक्रमण से बचाते हुए दिल्लीवासियों को सुरक्षा देना।
करीब 7500 जवान संक्रमित होने और 32 जवानों ने अपनी जान जाने पर पूरी पुलिस फोर्स का मनोबल बनाए रखना।

उपलब्धिः-
ई-बीट बुक सिस्टम अपनाया। इसमें इलाके की जानकारी होने के साथ बदमाशों का रिकार्ड है। पीसीआर काल सीधे बीट अफसर को मिलती है।
पुलिस व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम लागू, इससे वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर डालते ही पता लग जाता है कि वाहन चोरी का है और कहां से चोरी हुई है।
ऑनलाइन शिकायत सिस्टम शुरू किया गया है। पुलिस सोशल मीडिया से शिकायत लेने लगी।
दिल्ली पुलिस ने खुद के डेली डायरी सिस्टम को बंद किया। रोजनामचा कंप्यूटराइज्ड हो गया।
दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से विशेष अनुमति लेकर थानों के मालखाने में जमा प्रॉपर्टी को उनके मालिकों को कैंप लगाकर वापस लौटाया।
कोरोना काल में मददगार बनी पुलिस। लोगों की जरूरत पडने पर की मदद।
थाने के अंदर जाने की फरियादी की नहीं रही जरूरत, गेट पर लगे फोन से वह ड्यूटी अफसर व जांच अधिकारी बात कर सकता है।

उम्मीदः-
दिल की पुलिस वाली छवि मजबूत करने के लिए पुलिसकर्मियों का प्रशिक्षिण, मानवीय पुलिसिंग के सिखाए जाएंगे गुर।
कोरोना कॉल में दिल्ली पुलिस होगी हाईटेक, टाप टू बॉटम पुलिस फोर्स की बढ़ेगी तकनीकी दक्षता।
साइबर अपराध को काबू पाना है पहली प्राथमिकता।
सेफ सिटी प्रोजेक्ट के तहत दिल्ली के बाजार व कॉलोनियां होंगी सीसीटीवी की जद में
ट्रैफिक नियमों का पालन करवाने लिए सड़कों व चैराहों पर कैमरा लगेगा।

भ्रष्टाचार पर लगेगी लगामः-
2020 में दिल्ली पुलिस के करीब 20 से ज्यादा अधिकारी व जवानों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। ज्यादातर पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्जकर उन्हें गिरफ्तार किया गया है। कई थानाध्यक्ष हटाए गए हैं। जहांगीरपुरी में तो मादक पदार्थ तस्कर से बरामद चरस को ही पुलिसकर्मियों ने दूसरे मादक पदार्थ तस्कर को बेच दिया था। इसमें पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। अपने निवारक तंत्र को मजबूत कर दिल्ली पुलिस अपने अंदर के भ्रष्टाचार को नियंत्रित करने की भी कोशिश करेगी।

बातचीतः-
उम्मीद है कि अगले साल लोगों को दिल्ली पुलिस में फैले भ्रष्टाचार से मुक्ति मिलेगी। दिल्ली पुलिस में भ्रष्टाचार काफी फैल गया है। अगर ये बंद हो जाए तो पुलिस की छवि और सुधरेगी। गरीब तबके को भ्रष्टाचार से दूर रखना होगा। इसके लिए निवारक तंत्र को मजबूत करने की जरूरत है।
एलएन राव, सेवानिवृत्त डीसीपी
कोरोना का दूसरा रूप सामने आ रहा है। ऐसे में दिल्ली पुलिस के जवान फिर से कोरोना फ्रंट लाइन वरियर्स बनकर लोगों की फिर से सेवा करेंगे और उन्हें बचाएंगे। पुलिस से लॉ एण्ड ऑर्डर को संभालने के साथ-साथ अपराध पर काबू पाकर जनता को राहत दिलाएगी। पुलिस जनता को राहत देने के लिए कुछ और तकनीक लेकर आएगी।
वेदभूषण, सेवानिवृत्त एसीपी व दिल्ली पुलिस महासंघ के अध्यक्ष
कोरोना काल में दिल्ली पुलिस की छवि बदली है और पुलिस के जवानों ने लोगों को परिवार समझकर सहायता की। दिल्ली पुलिस अपनी इस छवि को अगले वर्ष में भी बरकरार रखेगी। उम्मीद है कि अगले साल में जनता दिल्ली पुलिस के जवानों को समझकर इज्जत देगी। पुलिस अपराध पर काबू पाने के लिए ई-बीट जैसी और तकनीक लाएगी।
राजेन्द्र सिंह, सेवानिवृत्त एसीपी

Subscribe to get news in your inbox