पिता को बचाने के लिए बेटी की गुहार पर नही पसीजी दिल्ली सरकार

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

December 2022
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
December 2, 2022

हर ख़बर पर हमारी पकड़

पिता को बचाने के लिए बेटी की गुहार पर नही पसीजी दिल्ली सरकार

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/द्वारका/नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- दिल्ली में एक तरफ कोरोना का कहर तो दूसरी तरफ अस्पतालों में अव्यवस्था के चलते लोग काफी परेशानी झेल रहे है। हालांकि दिल्ली सरकार लगातार विज्ञापनों के माध्यम से दावा कर रही है की हमारे पास अस्पतालों में पर्याप्त संसाधन उपलब्ध है और किसी भी मरीज को ईलाज के अभाव में मरने नही दिया जायेगा। लेकिन दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक बेटी अपने कोरोना वायरस से पीड़ित पिता के लिए सरकार से गुहार लगाती रही लेकिन न तो सरकार इसके लिए पसीजी और न ही अस्पताल प्रशासन ने मरीज की कोई सुध ली जिसकारण एक बेटी ने अपने पिता को सदा के लिए खो दिया और अमनप्रीत के पिता की अस्पताल के बाहर ही मौत हो गई।
यहां बता दें कि बात यहां खत्म नही हुई बल्कि इस मौत ने दिल्ली सरकार के सारे दावों की पोल खोल कर रख दीं। इस संबंध में स्वयं जानकारी देते हुए पीड़िता अमनप्रीत ने बताया कि उनके पिता जो कि कोरोना से संक्रमित थे। उन्हे इलाज के लिए तेज बुखार में एलएनजेपी अस्पताल ले जाया जाता है लेकिन ना कोई हेल्पलाइन चली और ना ही कही से मदद मिली। अमनप्रीत ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए कि उनके पिता की तबीयत बहुत बिगड़ती जा रही है लेकिन फिर भी अस्पताल प्रशासन ईलाज के लिए उन्हे भर्ती नही कर रहा है। ये वो ट्वीट थे जो एक बेटी अपने कोरोना से संक्रमित हुए पिता के लिए करती रही लेकिन इलाज नही मिला और अंत मे बेटी ने ये ट्वीट किया जिसके बाद सरकार के तमाम हवा हवाई दावों की पोल खोल कर रख दी। और एक बेटी ने अपने पिता को खो दिया जिसने हर किसी के सामने गुहार लगाई लेकिन किसी ने मदद नही की। वहीं दिल्ली सरकार दावा करती है कि कोरोना के ईलाज के लिए हमने हेल्पलाइन जारी कर दी है लेकिन इस बेटी के लिए कुछ काम ना आया।

“My father is corona positive and in Delhi, no helpline is responding @ArvindKejriwal @msisodia @dilipkpandey . Immediate support is needed .”

“My dad is having high fever. We need to shift him to hospital. I am standing outside LNJP Delhi & they are not taking him in. He is having corona, high fever and breathing problem. He won’t survive without help. Pls help.”

“Please listen to me my father is not getting any help. He is a corona patient & I’m at LNJP Hospt Delhi. No doc is seeing him, he won’t survive like this. Pls help.” He is no more. The govt failed us


यहां बता दे कि अमनप्रीत के ट्वीट के इस मुद्दे ने अब राजनीतिक रंग भी ले लिया है भाजपा के नेता कपिल मिश्रा ने भी ट्विट करके दिल्ली सरकार पर हमला किया कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर लिखा कि 2 जून सुबह से 4 जून सुबह तक कोरोना पॉजिटिव पिता के ईलाज के लिए गुहार लगाती रही ये बेटी। आखिर पिता ने दम तोड़ दिया, ना हेल्पलाइन चली, ना अस्पताल मिला, ना इलाज, जबकि इन तीन दिनों में केजरीवाल ने विज्ञापनों पर 12 करोड़ रुपये खर्च किये। आखिर सरकार लोगों को मारने पर तुली है।

About Post Author

Subscribe to get news in your inbox