जाखोदा में चल रही खेल प्रतियोगिता का हुआ समापन

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

September 2022
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930  
September 26, 2022

हर ख़बर पर हमारी पकड़

जाखोदा में चल रही खेल प्रतियोगिता का हुआ समापन

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/  सिद्धार्थ राव/ बहादुरगढ़/-  सूर्या फाउंडेशन द्वारा संचालित आदर्श ग्राम योजना के अन्तर्गत वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जाखोदा में  चल रहे खेल प्रतियोगिता का समापन कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि श्री मनोज सोमवंशी अधिकारी सूर्या रोशनी बहादुरगढ़, श्री मती नीशम जी प्रधानाचार्य रा वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जाखोदा, श्री बुद्ध सिंह जी सह प्रधानाचार्य, शत्रुहन लाल कश्यप सहप्रांत प्रमुख द्वारा भारत के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया गया।

मुख्यातिथि श्रीमान मनोज सोमवंशी ने अपने उद्बोधन में कहा कि खेल का जीवन में बहुत महत्व है। खेल से पता चलता है कि हमारे अंदर कितनी ऊर्जा और शक्ति है खेल से हमारे अंदर शक्ति का संचार होता है खेल कई प्रकार के होते हैं और हर किसी को अलग-अलग खेलों में सुरुचि रहता है जिसे जिस खेल में रुचि रहता है उसे उस खेल में आगे बढ़ना चाहिए। बहुत सारे संघ खेल भी होते हैं जो बिना सामग्री के खेले जाते हैं खेल से शरीर रिचार्ज हो जाता है। खेल से अनेक बीमारियां अपने आप ठीक हो जाते हैं खेल गांव से शहर शहर से जिला जिला से प्रदेश और प्रदेश से राष्ट्र को जोड़ने का कार्य करती है। क्योंकि एक खिलाड़ी किसी गांव मोहल्ले से निकलकर राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचता है और वह देश का नेतृत्व करता है। खेल शरीर के साथ बुद्धि का भी विकास करता है ।क्योंकि खेल जीतने के लिए बुद्धि भी लगानी पड़ती है कि किस प्रकार से हम खेल खेलें और विजय हो उन्होंने गांधीजी का भी उदाहरण दिया कि किस गांधीजी प्राकृतिक चिकित्सा पर विश्वास करते थे और अपना इलाज प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति से ही करते थे। ऐसे ही हमारे आदरणीय जयप्रकाश अग्रवाल जी चेयरमैन सूर्या फाउंडेशन का भी प्राकृतिक चिकित्सा के प्रति विशेष लगाओ है और आज वह उसके प्रचार प्रसार के लिए पूरे देश में इस प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन कर रहे हैं। जिससे पूरा देश स्वस्थ और फिट इंडिया हो। प्रधानाचार्य निशान जी ने बच्चों को खेल खुद के महत्व को समझाते हुए कहा कि आज शिक्षा दो प्रकार की हो गई है एक शैक्षणिक और दूसरा गैर शैक्षणिक जिन बच्चों में शिक्षा के प्रति ज्यादा रुझान होता है वह शिक्षा के क्षेत्र में आगे होते हैं और जिन बच्चों में खेल के प्रति ज्यादा रुझान होते हैं वह खेल को अपने जीवन में अपनाकर आगे बढ़ता है। खेल से जीवन में अनेक गुणों का विकास होता है सूर्या फाउंडेशन द्वारा गांव गंव में इस प्रकार के आयोजन करने से निश्चित ही युवाओं एवं बच्चों में खेल के प्रति जागरूकता आती है और यह भी पता चल जाता है कि कौन विद्यार्थी या बच्चा किस खेल में अधिक निपुर्ण है। इससे पहले शत्रुघ्न लाल कश्यप ने अतिथियों को जानकारी दी कि सूर्या फाउंडेशन एक सामाजिक संस्था है कि पूर्ण रूप से समाज के विकास और विभिन्न क्षेत्र में जागरूकता का कार्य कर रही है। फाउंडेशन आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत संस्कार केंद्र, भारत यूथ खेल क्लब का संचालन गांव गांव में कर रही है, जिसके माध्यम से बच्चो एवम् युवाओं में संस्कार देश भक्ति और समाज के प्रति उनके कर्ताव्यो का बोध करा रहे है। वर्तमान में देश के 18 राज्यों में काम चल रहा है। व्यक्तित्व विकास शिविर, पौधा रोपण, स्वच्छता अभियान, योग का प्रचार प्रसार, प्राकृतिक चिकित्सा इसके प्रमुख आयाम है।

  खेल कूद प्रतियोगिता में 100 मी की दौड़ में कक्षा 6वी 8वी वर्ग में करीना प्रथम, ऋतु द्वितीय और रानी तृतीय, लडको में मनीष, जय निवास और सचिन क्रमश पहला दूसरा और तीसरा स्थान प्राप्त किया। कक्षा 3री व 5वी वर्ग में करिश्मा प्रथम, खुशबू द्वितीय एवं सोनिया तृतीय स्थान छात्रों में मंजीत प्रथम, दक्ष द्वितीय और अभिषेक ट्रिटी स्थान  प्राप्त किया। लडको की कबड्डी में 10 कक्षा तो बहनों में 9वी कक्षा विजेता बनी। वालीबाल ने 10वी की भैय्याओ ने बाजी मारी । सूर्य नमस्कार में पवन गोल्ड जसबीर सिल्वर और मिलन ब्रांज मेडल प्राप्त किया। अनीता और रानी को बेस्ट स्पोर्ट्स गर्ल्स तथा आकाश और सचिन की बेस्ट स्पोर्ट्स में का ट्राफी दिया गया। सभी विजेताओं को अतिथियों द्वारा मेडल और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। साथ ही सूर्या फाउंडेशन द्वारा पूर्व में लगाए गए आंखो की जांच केंप में कुछ विद्यार्थियों में दृष्टि दोष पाए गए थे ऐसे 14 विद्यार्थियों के लिए चश्मा बनवाए गए थे का भी वितरण किया गए। कार्यक्रम का संचालन जसबीर सहायक शिक्षक द्वारा किया गया।  इस अवसर पर सूर्या फाउंडेशन के शिक्षक संजय दलाल, धरमवीर  विद्यालय के शिक्षक जितेंद्र, देवेंद्र, विजय, संजय, राजरानी, प्रियंका और मीना आदि का विशेष सहयोग रहा।

Subscribe to get news in your inbox