सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती को गुरुग्राम पुलिस द्वारा धूमधाम से मनाया गया

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

February 2024
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
26272829  
February 25, 2024

हर ख़बर पर हमारी पकड़

सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती को गुरुग्राम पुलिस द्वारा धूमधाम से मनाया गया

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/गुरूग्राम/नई दिल्ली/प्रदीप यादव/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- पुलिस आयुक्त के.के. राव , गुरुग्राम ने सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर उनकी प्रतिमा पर फूलों अर्पित किए व राष्ट्र की एकता, अखंडता व सुरक्षा को मजबूत करने के प्रति उनके समर्पण को याद किया।
भारत के प्रथम पूर्व उप-प्रधानमंत्री व गृहमन्त्री, लौहपुरुष भारतरत्न सरदार श्री वल्लभभाई पटेल की जयंती के दिन (31 अक्टूबर) को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप मनाया जाता है। सरदार पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को नडियाड बम्बई में हुआ था। उनके जन्म दिवस को सम्पूर्ण भारतवर्ष में राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है। वल्लभभाई झावेरभाई पटेल (31 अक्टूबर 1875 दृ 15 दिसंबर 1950), जो सरदार पटेल के नाम से लोकप्रिय थे, एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे। उन्होंने भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया। वे एक भारतीय अधिवक्ता और राजनेता थे, जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता और भारतीय गणराज्य के संस्थापक पिता थे। जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए देश के संघर्ष में अग्रणी भूमिका निभाई और एक एकीकृत, स्वतंत्र राष्ट्र में अपने एकीकरण का मार्गदर्शन किया। भारत और अन्य जगहों पर, उन्हें अक्सर हिंदी, उर्दू और फारसी में सरदार कहा जाता था, जिसका अर्थ है ष्प्रमुखष्। उन्होंने भारत के राजनीतिक एकीकरण और 1947 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान गृह मंत्री के रूप में कार्य किया। गृह मंत्री के रूप में उनकी पहली प्राथमिकता देसी रियासतों (राज्यों) को भारत में मिलाना था। उन्होंने बिना कोई खून बहाए सम्पादित कर दिखाया। भारत के एकीकरण में उनके महान योगदान के लिये उन्हे भारत का लौह पुरूष के रूप में जाना जाता है। सन् 15 दिसम्बर 1950 को उनका देहान्त हो गया।


कल गुरुग्राम में ताऊ देवीलाल स्टेडियम में सरदार पटेल की 145वीं जयन्ती के उपलक्ष्य पर गुरुग्राम पुलिस द्वारा उनके सम्मान में मार्च पास्ट करके व सपथ गृहण करके राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया गया।
इस आयोजन के दौरान पुलिस आयुक्त के.के.राव गुरुग्राम द्वारा भारतरत्न लौह पुरुष सरदार पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनकी प्रतिमा पर फूल अर्पित किए तथा राष्ट्र की एकता, अखंडता व सुरक्षा को मजबूत करने के प्रति उनके समर्पण को भी याद किया गया तथा राष्ट्रीय में एकता, अखंडता व सुरक्षा स्थापित करने के लिए गुरुग्राम पुलिस को शपथ दिलाई गई।
इस अवसर पर पुलिस आयुक्त के के राव, गुरुग्राम, कुलविंद्र सिंह आईपीएस, जॉइंट पुलिस आयुक्त, दीपक सहारण, पुलिस उपायुक्त पश्चिम, गुरुग्राम धीरज सेतिया, पुलिस उपायुक्त, गुरुग्राम सहित गुरुग्राम जिले के सभी सहायक पुलिस आयुक्त व अन्य पुलिस अधिकारीध्कर्मचारी उपस्थित रहे।
इस विशेष आयोजन के माध्यम से सरदार पटेल के बलिदान उनकी कार्यशैली, कार्यक्षमता सहित देश के प्रति उनका समर्पणध्बलिदानों तथा उनके विचारों के बारे में पुलिस अधिकारियोंध्कर्मचारियों को स्मरण कराया गया। इस आयोजन के माध्यम से पुलिसकर्मियों को बताया गया कि राष्ट्र को एकजुट रखने में पुलिस की भूमिका कितनी अहम है तथा राष्ट्रीय एकता दिवस पुलिस बलों के लिए कितना महत्व रखता है। पुलिस बलों ने देश की आंतरिक सुरक्षा और संप्रभुता के लिए अनगिनत बलिदान दिए हैं। कल 31 अक्तूबर को सम्पन्न हुए इस आयोजन इस आयोजन से पुलिसबल देश की एकता व अखंडता को मजबूत करने का संकल्प दौहराते हुए अपनी सेवा के पथ पर आगे बढ़ना रहने व अपनी ड्यूटी का निर्वहन बड़ी ही मेहनत, लग्न व ईमानदारी से करते रहने का संकल्प लिया।

About Post Author

Subscribe to get news in your inbox