प्रशासन का सशक्त सूचना तंत्र है प्रौद्योगिकी विभाग- डीसी जितेन्द्र कुमार

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

April 2024
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930  
April 22, 2024

हर ख़बर पर हमारी पकड़

प्रशासन का सशक्त सूचना तंत्र है प्रौद्योगिकी विभाग- डीसी जितेन्द्र कुमार

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/झज्जर/नई दिल्ली/राकेश कुमार/शिव कुमार यादव/भावना शर्मा/- कोविड-19 वैश्विक महामारी की स्थिति में जनसेवा को समर्पित होकर जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम से जुड़े अधिकारी व कर्मचारी दिन-रात कोरोना वारियर्स के रूप में कार्य कर रहे हैं। जिला मुख्यालय पर कार्यरत कंट्रोल रूम का हेल्प लाइन पिछले दो माह से निरंतर निर्बाध रूप से कोरोना से बचाव की दिशा में अपना अतुलनीय योगदान निभा रहा है। डीसी जितेंद्र कुमार की ओर से लोगों की समस्याओं के समाधान व सहयोग हेतु कोविड-19 से बचाव के दृष्टिड्ढगत पूरी योजनाबद्ध तरीके से कदम उठाए गए। प्रशासन की ओर से डिजीटल प्रणाली से लोगों को विभिन्न पहलुओं से लाभांवित किया जा रहा है।

-01251-253118 व टोल फ्री नंबर 1950 बने आमजन के लिए मददगार
                            झज्जर जिला मुख्यालय पर बनाए गए कंट्रोल रूम के हेल्प लाइन नंबर 01251-253118 व टोल फ्री नंबर 1950 पर अब तक कुल 5195 लोगों ने कॉल कर समाधान के लिए अपील की। सभी शिकायतों व समस्याओं का निदान करते हुए लोगों को राहत पहुंचाई जा रही है। जिला सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से कंट्रोल रूम में कॉल से शिकायत का निवारण, ऑनलाइन मूमेंट पास बनाने, मुख्यमंत्री राहत कोष के माध्यम से जरूरतमंद लोगों को एक हजार रूपए प्रति सप्ताह के लिए पंजीकरण प्रक्रिया, प्रवासी श्रमिकों का पंजीकरण करते हुए उन्हें भेजने की व्यवस्था, झज्जर जिला की वेबसाइट निरंतर अपडेट करना, जिला में विभिन्न स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे इंस्टाल करवाने सहित अटल सेवा केंद्रों के माध्यम से आरोग्य सेतू एप को डाउनलोड करवाने आदि का कार्य कोविड-19 से बचाव व लॉकडाउन में लोगों की सेवा स्वरूप किया जा रहा है।

-झज्जर जिला प्रशासन का कंट्रोल रूम दिन-रात है एक्टिव- बंसल
जिला सूचना एवं प्रौद्योगिकी अधिकारी अमित बसंल ने जानकारी देते हुए बताया कि कंट्रोल रूम प्रभारी रविकांत वशिष्ठ की देखरेख में कंट्रोल रूम में रोस्टर अनुसार 8-8 कंप्यूटर ऑपरेटर, उपायुक्त कार्यालय से लिपिक, पुलिस विभाग, स्वास्थ्य विभाग तथा खाद्य एवं पूर्ति विभाग से संबंधित एक अधिकारी पिछले दो माह से निरंतर निर्बाध रूप से कॉल की सुनवाई करते हुए समाधान सुनिश्चित कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि हेल्प लाइन नंबर पर आने वाली कुल 5195 कॉल में से भोजन न मिलने बारे-3888, कोविड से बचाव संबंधित-64, राशन से संबंधित-75, कानून व्यवस्था से संबंधित 90 तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं से जुड़ी 1078 कॉलर को राहत पहुंचाई गई है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन में सरल हरियाणा पोर्टल पर घर से बाहर अपने वाहनों से आवागमन के लिए 28,629 लोगों ने अप्लाई किया था जिनमें से पूरे तथ्यात्मक पहलुओं को ध्यान में रखते हुए व अति आवश्यक स्थिति में अब तक 8304 वाहनों के मूमेंट पास निर्धारित सशर्त जारी किए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री राहत कोष से अब तक 5120 जरूरतमंद लोगों को एक हजार रूपए प्रति सप्ताह के पात्र माना है और अब तक 3164 जरूरतमंद लोगों को आर्थिक सहयोग सरकार की ओर से दिया जा चुका है।

-सूचना, प्रौद्योगिकी विभाग की उल्लेखनीय कार्यशैली – डीसी
डीसी जितेंद्र कुमार का कहना है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौर में शुरूआत से ही लोगों की सहूलियत के लिए प्रशासन की ओर से कंट्रोल रूम स्थापित करते हुए हेल्पलाइन के प्रति लोगों को जागरूक किया गया। लोगों ने पूरी जागरूकता के साथ हेल्पलाइन पर एक कॉल कर अपनी व सार्वजनिक समस्याओं का समाधान करवाया। साथ ही अन्य गतिविधियों में भी सहयोगी भूमिका निभाने में सूचना, प्रौद्योगिकी विभाग की उल्लेखनीय कार्यशैली है।

About Post Author

Subscribe to get news in your inbox