रोग के हिसाब से खाएं विभिन्न रंगों के फल-सब्जियां, बिमारी से मिलेगी निजात

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

July 2024
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
July 21, 2024

हर ख़बर पर हमारी पकड़

रोग के हिसाब से खाएं विभिन्न रंगों के फल-सब्जियां, बिमारी से मिलेगी निजात

-खतरनाक बीमारियों को खत्म करने में सहायक होते है अलग-अलग रंग के फूड

सेहत/शिव कुमार यादव/ – विभिन्न रंगों के फूड्स के कई सारे फायदे होते है। इनका सबसे बड़ा फायदा खतरनाक बिमारियों को खत्म करने से जुड़ा है। अमेरिका में विभिन्न रंगों के फूड्स पर एक शोध में सामने आया है कि अलग-अलग रंग की फल व सब्जियां खतरनाक बिमारियों को ठीक करने में सहायक होती है। अमेरिकी डॉक्टरों की माने तो रोग के हिसाब से कौन से रंग की फल व सब्जी खानी चाहिए यह रंग के गुणों पर आधारित होता है। ये कलरफुल फूड्स आपको कई सारे फायदे देते हैं और हर बीमारी के लिए अलग फूड जरूरी होता है। इनके रंग में असली गुण छिपे होते हैं जिनका असर किसी दवा की तरह होता है। अमेरिकी डॉक्टर ने सभी रंगों के बारे में बताया है।

znižanje lanskoletne kolekcije smučarskih bund vestido guess niña batterie echo 2 skyrc laturi tortiera Italy το σοι σου το δωρο ποδηλατο τησ λυδιας hardmodded xbox og prydnadskudde äppelgrön ombrellone da giardino 4×4 Italy audi a3 sportback 1.4 tfsi mgus igg kappa wikipedia steel ty make up nägel jimi hendrix electric church dvd cover botas militares gamos

एक्सपर्ट रंगीन खाद्य पदार्थों को सेहत के लिए काफी स्वास्थ्यवर्धक मानते हैं। इनके कलर में ही असली ताकत होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कौन-से रंग का फूड कौन सी बीमारी में खाना चाहिए। अगर नहीं तो अमेरिकी डॉक्टर मार्क हाइमन ने इसके बारे में पूरी जानकारी दी है।
          डॉ. मार्क हाइमन कहते हैं कि आप जितने रंगीन खाद्य पदार्थ खाते हैं आपको उतना ही एंटी इंफ्लामेटरी, डिटॉक्सिफाइंग, फाइटोन्यूट्रिएंट और एंटीऑक्सीडेंट्स मिलते हैं। इन तत्वों के अंदर दवा जितनी शक्ति होती है जो बीमारियों को जल्दी ठीक करने में कारगर साबित होते हैं। दो रंग की चीजें मिलाकर खाने से ज्यादा फायदा होता है।

लाल रंग के फूड
सेब, टमाटर, चेरी, अनार, स्ट्रॉबेरी, तरबूज, चुकंदर, लाल शिमला मिर्च, लाल बंद गोभी जैसे कई सारे फूड्स का रंग लाल होता है। इस रंग के फूड्स में फ्लेवोन्स, लाइकोपीन, कैराटोनोइड्स, फलोरेटिन जैसे फाइटोकेमिकल होते हैं। जो इम्यून सिस्टम मजबूत करने, सूजन कम करने और एंटीऑक्सीडेंट बढ़ाने में मदद करते हैं।

संतरी रंग के फूड
संतरा, पपीता, गाजर, कद्दू, शकरकंद, हल्दी, आम का कलर संतरी और हल्का पीला जैसा होता है। ऐसे फूड्स में अल्फा कैरोटीन, कुरकुमिन, बीटा कैरोटीन, कैरोटेनोइड्स होते हैं। जो फैट सॉल्यूबल टिश्यू को एंटीऑक्सीडेंट्स देने, एंडोक्राइन सिस्टम हेल्दी बनाने और फर्टिलिटी सुधारने में मदद करते हैं।

पीले रंग के फूड
नींबू, अनानास, केला, पीली शिमला मिर्च, पीली प्याज आदि का रंग चटक पीला होता है। ऐसे खाद्य पदार्थ जिंजेरोल, प्रीबायोटिक फाइबर, लुटिन, रुटिन, जीआक्सैंथिन देते हैं। जो पाचन तंत्र, गैस्ट्रिक प्रॉब्लम्स को मजबूत बनाते हैं और डायबिटीज में अच्छे होते हैं।

हरे रंग के फूड
एवोकाडो, नाशपाती, शिमला मिर्च, गोभी, भिंडी, ब्रोकली, पालक, सरसों आदि बहुत हेल्दी फूड्स हैं। जिनमें फाइटोस्टेरोल, टैनिन, सल्फोराफेन, टायरोसोल, थियाफ्लेविन आदि होते हैं। यह चीजें आपकी नसों और खून के लिए बढ़िया होती हैं, इसलिए दिल के मरीजों को यह खाना चाहिए।

नीले रंग के फूड
बैंगन, ब्लूबेरी, नीली गोभी, नीले आलू, नीली गाजर जैसे फूड में फ्लेवेनोइड्स, फेनोलिक एसिड, एंथोसाइनिडिन आदि होते हैं। जो कि एंटीऑक्सिडेंट देते हैं और यह आपके दिमाग के लिए बहुत ताकतवर होते हैं। इनसे मूड, याददाश्त, काम करने की क्षमता बढ़ती है।

नोट- यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का दावा या विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

About Post Author

Subscribe to get news in your inbox