कर्नाटक में हिजाब बैन पर आईएनडीआईए में तकरार, उमर अब्दुल्ला ने जताई नाराजगी

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

July 2024
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
July 19, 2024

हर ख़बर पर हमारी पकड़

कर्नाटक में हिजाब बैन पर आईएनडीआईए में तकरार, उमर अब्दुल्ला ने जताई नाराजगी

-बीजेपी वाले दांव से कांग्रेस की मुश्किल बढ़ी,

नई दिल्ली/शिव कुमार यादव/- केंद्र की मोदी सरकार को 2024 के रण में चुनौती देने के लिए विपक्ष का नया गठबंधन आईएनडीआईए अभी कमर ही कस रहा है लेकिन जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे-वैसे इस नए गठबंधन में सबकुछ ठीक नही चल रहा है। हालांकि कांग्रेस नए गठबंधन के दम पर बीजेपी को हराने का दावा कर रही है लेकिन कर्नाटक में हिजाब के मामले में कांग्रेस भी भाजपा की राह पर चल पड़ी है जिसे देखते हुए आईएनडीआईए का एक घटक दल नाराज हो गया है। दरअसल कर्नाटक में कांग्रेस द्वारा हिजाब पर बैन लगाने से जम्मू-कश्मीर की मुख्य पार्टी नैशनल कॉन्फ्रेंस कांग्रेस से नाराज दिखाई दे रही है। पार्टी के नेता उमर अब्दुल्ला इससे खुश नहीं हैं और उसे हटाने को कहा है। हालांकि अभी कांग्रेस ने इस पर अपना कोई जवाब नही दिया है।  बता दें कि पहले भी आईएनडीआईए में इस तरह की घटना घट चुकी है। पहले पटना की मीटिंग में आम आदमी पार्टी नाराज हुई और बाद में अध्यादेश पर कांग्रेस सहित कई दलों के समर्थन के बाद सब ठीक हो गया। कुछ दिन पहले कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के बीच खटपट हो गई। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ के बीच जुबानी जंग देखने को मिली। दोनों पार्टियों के बीच अभी भी सब ठीक नहीं है। अब जम्मू-कश्मीर की मुख्य पार्टी नैशनल कॉन्फ्रेंस भी कांग्रेस से नाराज है। मुद्दा है कर्नाटक सरकार में हिजाब पर लगा बैन।

उमर अबदुल्ला किसा बात से हैं कांग्रेस से नाराज?
नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अबदुल्ला ने मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और राहुल गांधी को सीधा और स्पष्ट संदेश देते हुए कहा कि कर्नाटक सरकार अपने यहां लगे हिजाब बैन को रद्द करे। उमर अबदुल्ला ने कहा कि सरकार को इसमें हस्तक्षेप क्यों करना चाहिए? और ऐसे आदेश पारित किए जाते हैं जिनके माध्यम से मुसलमानों को निशाना बनाया जाता है। उमर ने कहा कि जब कर्नाटक में पहले यह सब होता था, तो हमें आश्चर्य नहीं होता था क्योंकि उस समय बीजेपी की सरकार थी। लेकिन यह दुख की बात है कि कांग्रेस के कार्यकाल में इस तरह के फैसले लिए जाते हैं। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।

सोनिया-खरगे-राहुल से अपील
उमर अबदुल्ला ने सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खरगे और राहल गांधी से अनुरोध करते हुए कहा कि कर्नाटक में जारी किए गए आदेश पर पुनर्विचार करें और इस आदेश को रद्द करने के लिए काम करें। बीजेपी पर हमला बोलते हुए उमर अबदुल्ला ने कहा कि केंद्र सरकार दुनिया को बताती थी कि उन्होंने जम्मू-कश्मीर में त्रिस्तरीय लोकतंत्र स्थापित किया है, अब इसका एक भी स्तर नहीं बचा है। यह स्पष्ट है। अगर बीजेपी को लगा होता कि वे यहां चुनाव जीतेंगे, तो उन्होंने यहां चुनाव कराए होते।

कौन से फैसले से गठबंधन का साथी नाराज?
असल में कर्नाटक में परीक्षा कराने वाली अथॉरिटी ने बड़ा कदम उठाते हुए भर्ती परीक्षाओं में हिजब पहनकर आने पर एंट्री न देने का फैसला किया है। हालांकि मंगलसूत्र और बिछुओं पर कोई बैन नहीं लगाया गया है। इस फैसले के बाद से ही शायद एनसी पार्टी के नेता उमर अबदुल्ला नाराज हैं। 18 और 19 नवंबर को कर्नाटक में कई भर्ती परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी। हिजाब बैन के अलाव ब्लूटूथ, मोबाइल फोन और इयरफोन और हेडफोन पर भी बैन लगाया गया है।

क्या बीजेपी वाला दांव पड़ गया भारी?
कर्नाटक में बीजेपी वाले दांव से लगता है कांग्रेस की मुश्किल बढ़ गई है। नीतीश कुमार, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और अब उमर अबदुल्ला। तीनों ही कांग्रेस के प्रति और उनके लिए फैसले पर नाराजगी जता चुके हैं। कर्नाटक में तो हिजाब बीते एक साल में सबसे प्रमुख मुद्दा रहा है। सड़क से कोर्ट तक यह मुद्दा सबसे गर्म रहा था। तब की भाजपा सरकार ने कहा था कि मुस्लिम छात्राओं को स्कूल और कॉलेज के यूनिफॉर्म का पालन करना होगा। कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में भी यह मुद्दा खूब गरमाया था जिसके बाद भाजपी का सरकार चली गई थी।

विपक्षी एकता में फूट?
विपक्षी महागठबंधन इंडिया के बनने के बाद पटना और मुंबई में मीटिंग के बाद सब बदल गया। बिहार के सीएम नीतीश कुमार, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और अब उमर अबदुल्ला ने कांग्रेस पर नाराजगी जताई है। नीतीश कुमार के पहले पटना मीटिंग और उसके बाद एक मंच से कहना कि कांग्रेस विधानसभा चुनाव में व्यस्त है कहते ही संकेत मिलने लगे थे। उस बीच पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी कांग्रेस से नाराज हो गए जो अब तक जारी है। अखिलेश यादव की मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ और यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय से जुबानी जंग भी हुई। अभी भी अखिलेश खुश नहीं हैं। उन्होंने म.प्र. में भी कांग्रेस को वोट न देने की अपील की थी। वहीं अब कांग्रेस नाराजगी की लिस्ट में उमर अबदुल्ला का नाम भी जुड़ गया है।

About Post Author

आपने शायद इसे नहीं पढ़ा

Subscribe to get news in your inbox