ओमिक्रोन से मुकाबले के लिए इम्युनिटी मजबूत बनाये -प्रो.करुणा चांदना

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

August 2022
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
August 15, 2022

हर ख़बर पर हमारी पकड़

ओमिक्रोन से मुकाबले के लिए इम्युनिटी मजबूत बनाये -प्रो.करुणा चांदना

-ओमिक्रोन में पोषण“ पर केंद्रीय आर्य युवक परिषद की गोष्ठी सम्पन्न

नजफगढ़ मैट्रो न्यूज/नई दिल्ली/भावना शर्मा/- केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में “ओमिक्रोन महामारी में पोषण“ विषय पर ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन किया गया। यह कोरोना काल में परिषद का 339 वां वेबिनार था ।

इस अवसर पर मुख्य वक्ता प्रो.करुणा चांदना ने कहा कि कोविड की तीसरी लहर से मुकाबले के लिए हमें अपनी इम्युनिटी मजबूत करना बहुत आवश्यक है।कोविड्ड महामारी की दूसरी लहर के जानलेवा प्रभावों ने हमें इतना संवेदनशील बना दिया है और अब तीसरी लहर ओमिक्रोन वेरिएंट के नाम से आ चुकी है जिससे कि सारे विश्व स्तर पर एक बार फिर खलबली मच गई है। ऐसे में अधिक समय बर्बाद ना करते हुए आइए शरीर को मजबूत बनाएं तथा प्रभावशाली ढंग से वायरस से लड़ने के लिए कमर कस लें तभी हम महामारी से निजात पा सकते हैं। हालांकि कोविड से जूझना इतना आसान नहीं है लेकिन अगर समय रहते आहार में बदलाव संतुलित आहार पौष्टिक आहार लिया जाए तो इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है। जैसा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के समय रोगियों की फेफड़े हृदय एवं श्वसन प्रणाली बहुत अधिक प्रभावित हुई थी इसलिए अब सब डरे हुए हैं और किसी भी कीमत पर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए तत्पर हैं क्योंकि इम्युनिटी शरीर की बिगड़ती स्थिति को पुनः जीवित करती है तथा शारीरिक तंत्र को वायरस से लड़ने में मदद करती है। इस सब के लिए आहार में विविधता लानी जरूरी है और विविधता गुणवत्ता से लाई जा सकती है इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण है कि हमारी प्लेट कलरफुल या रेनबो प्लेट होनी चाहिए यानी जिसमें सारे पौष्टिक तत्व शामिल होने चाहिए जैसे ताजे फल सब्जियां जिनसे विभिन्न विटामिंस मिलते हैं पर सबसे जरूरी विटामिन सी और डी का इस समय बहुत महत्व है इसके अलावा खनिजों में कैल्शियम मैग्नीशियम सोडियम पोटेशियम और जिंक सबसे महत्वपूर्ण है दूसरे पौष्टिक तत्व जैसे प्रोटीन,कैलोरी तथा तृणधान्य प्लेट में शामिल होने चाहिए।तरल पदार्थों का सेवन, प्राकृतिक एंटीवायरल फूड्स, एंटीऑक्सीडेंट्स का कोविड-19 में बहुत महत्व है।इतना ही नहीं इसके साथ जीवन शैली में बदलाव साउंड स्लीप,रेस्पिरेट्री एक्सरसाइजेज भी दिनचर्या में शामिल की जानी चाहिए अगर आप यह सब कुछ करते हैं तो करोना आपका कुछ नहीं बिगाड़ सकता।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि शरद ऋतु में पाचन शक्ति अच्छी होती है यदि पोषक आहार लेंगे तो इम्युनिटी मजबूत कर रोगों से बचाव कर सकते हैं। मुख्य अतिथि रविन्द्र आर्य व राजेश मेहंदीरत्ता ने भी स्वास्थ्य रक्षा पर बल दिया। राष्ट्रीय मंत्री प्रवीण आर्य ने बताया कि नियमित योगाभ्यास रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का सर्वश्रेष्ठ माध्यम है साथ ही पानी पीने की मात्रा को एक सामान्य व्यक्ति को प्रतिदिन व्यक्ति के वजन को 20 से भाग देने पर जो उत्तर आए उतना पानी सुबह से शाम तक पीना चाहिए,पानी शरीर में ट्रांसपोर्ट का कार्य करता है,आज पानी कम पीने की वजह से एसिडिटी आदि अनेकों व्याधियों से घिरे रहते हैं,अतः एल्कालाइन व अधिकतम 250 टीडीएस का पानी उपरोक्त मात्रा में पीकर हम स्वस्थ रह सकते हैं। गायक रविन्द्र गुप्ता, कमलेश चांदना, रचना वर्मा, रजनी चुघ, सुशांता अरोड़ा ,रजनी गर्ग, कैप्टन अशोक गुलाटी, किरण सहगल, सुषमा गुगलानी, रीता जयहिंद, प्रवीना ठक्कर आदि के मधुर गीत हुए। आर्य नेता व शिक्षाविद मनोहर लाल चावला के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया गया।

Subscribe to get news in your inbox