आंध्र प्रदेश में चौथी बार चंद्रबाबू नायडू बने मुख्यमंत्री, शपथग्रहण में पीएम मोदी हुए शामिल

स्वामी,मुद्रक एवं प्रमुख संपादक

शिव कुमार यादव

वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी

संपादक

भावना शर्मा

पत्रकार एवं समाजसेवी

प्रबन्धक

Birendra Kumar

बिरेन्द्र कुमार

सामाजिक कार्यकर्ता एवं आईटी प्रबंधक

Categories

July 2024
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
July 16, 2024

हर ख़बर पर हमारी पकड़

आंध्र प्रदेश में चौथी बार चंद्रबाबू नायडू बने मुख्यमंत्री, शपथग्रहण में पीएम मोदी हुए शामिल

-टीम में डिप्टी सीएम पवन कल्याण समेत 24 मत्रियों ने ली शपथ

विजयवाड़ा/शिव कुमार यादव/- चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार को चौथी बार आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद रहे। नायडू के साथ जन सेना पार्टी के अध्यक्ष पवन कल्याण को डिप्टी सीएम बनाया गया तथा इसके अलावा कैबिनेट में 24 मंत्रियों ने भी शपथ ली।

          गौरतलब है, आंध्र प्रदेश विधानसभा में एनडीए ने एक तरफा जीत दर्ज की है। मंगलवार को तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने चंद्रबाबू नायडू को अपने विधायक दल नेता चुना था और उन्होंने चौथी बार आज आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इनके अलावा, पवन कल्याण, नायडू के बेटे नारा लोकेश और कई मंत्रियों को राज्यपाल एस अब्दुल नजीर ने शपथ दिलाई।
           इस अवसर पर गृह मंत्री अमित शाह ने एक्स पर बधाई देते हुए कहा, ’मुख्यमंत्री नायडू और उपमुख्यमंत्री पवन कल्याण और अन्य सभी लोगों को बधाई, जिन्होंने आज पद की शपथ ली। मेरा दृढ़ विश्वास है कि एनडीए सरकार आंध्र प्रदेश राज्य को समृद्धि की नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी, लोगों की आकांक्षाओं और आशाओं को पूरा करेगी।’

शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद रहेंगे यह लोग
बुधवार सुबह राज्यपाल ने 74 वर्षीय चंद्रबाबू नायडू को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, नितिन गडकरी, जेपी नड्डा और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे समेत कई दिग्गज मौजूद रहे। वहीं, पूर्व उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश एन वी रमण और सुपरस्टार रजनीकांत और चिरंजीवी ने भी समारोह में हिस्सा लिया।

जब पीएम ने लगाया गले
वहीं सबसे देखने लायक दृश्य तब था, जब पीएम मोदी ने चंद्रबाबू नायडू के पद संभालने पर उन्हें गले लगाया और थपथपाया। बाद में प्रधानमंत्री ने तेलुगू मेगास्टार चिरंजीवी और पवन कल्याण से मुलाकात की और मंच पर तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम, तमिल सुपरस्टार रजनीकांत और उनकी पत्नी लता से भी बातचीत की।

          बता दें, नायडू ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में अपनी कुप्पम सीट बरकरार रखी, जबकि पवन कल्याण और लोकेश ने पीथापुरम और मंगलगिरि विधानसभा क्षेत्रों से जीत दर्ज की। पवन कल्याण के नेतृत्व वाली पार्टी को 25 सदस्यीय मौजूदा मंत्रिमंडल में तीन और भाजपा को एक सीट मिली है।

इन लोगों ने भी ली मंत्री पद की शपथ

के. अत्चन्नायडू
पी नारायण
निर्मला रामानायडू
कोलू रविंद्र
वंगलापुडी अनिता
अनाम रामनारायण रेड्डी
कोलुसु पार्थसारधि
एनएमडी फारूक
पय्यवुला केशव
अनज्ञानी सत्यप्रसाद
बलवीरंजनेयस्वामी
गोत्तीपति रवि
गुम्मदी संध्यारानी
जनार्दन रेड्डी
टीजी भरत
एस सविथा
वासमशेट्टी सुभाष
कोंडापल्ली श्रीनिवास
मंदीपल्ली राम प्रसाद रेड्डी
नाडेंडला मनोहर
सत्यकुमार यादव
कांडला दुर्गेश

देर रात तैयार हुई थी कैबिनेट की रूपरेखा

मंगलवार देर रात अमरावती में अमित शाह और जे.पी. नड्डा के साथ बैठक के बाद चंद्रबाबू नायडू ने अपने मंत्रिपरिषद को अंतिम रूप दिया। सत्य कुमार यादव एकमात्र भाजपा विधायक हैं, जिन्हें मंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी। जन सेना पार्टी के तीन मंत्री पवन कल्याण, नाडेंडला मनोहर और कंदुला दुर्गेश हैं।

कैबिनेट में हर वर्ग को मिली भागीदारी
आंध्र प्रदेश सरकार की नई कैबिनेट में तीन महिलाएं शामिल हैं। वरिष्ठ नेता एन. मोहम्मद फारूक एकमात्र मुस्लिम चेहरा हैं। मंत्रियों की सूची में पिछड़ा वर्ग से आठ, अनुसूचित जाति से तीन और अनुसूचित जनजाति से एक व्यक्ति शामिल है। नायडू ने कम्मा और कापू समुदायों से चार-चार मंत्रियों को शामिल किया है। रेड्डी से तीन और वैश्य समुदाय से एक को भी कैबिनेट में जगह मिली है। नायडू सामाजिक और राजनीतिक रूप से शक्तिशाली कम्मा समुदाय से आते हैं, जबकि पवन कल्याण कापू समुदाय से आते हैं।

टीडीपी को मिला जबरदस्त समर्थन
आंध्र प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में राज्य की 175 में से 135 सीटें जीतकर चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व वाली तेलुगु देशम पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनी। चुनाव में पवन कल्याण की जनसेना पार्टी ने 21 सीटें जीती हैं और भाजपा को भी आठ सीटों पर जीत हासिल हुई है। वहीं जगनमोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआरसीपी महज 11 सीटों पर सिमट गई है। आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में टीडीपी, जनसेना और भाजपा गठबंधन बनाकर चुनाव मैदान में उतरीं थीं।

About Post Author

आपने शायद इसे नहीं पढ़ा

Subscribe to get news in your inbox